jls

जो देखता हूँ, वही लिखता हूँ

403 Posts

7667 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3428 postid : 1325104

विश्वास के विश्वास को ठेस

Posted On: 16 Apr, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वाास का तकरीबन 13 मिनट का वीडियो वायरल हो रहा है. उसमें उन्हों ने राष्ट्ररवाद के नाम पर देश के प्रधानमंत्री से लेकर दिल्लीं में आप सरकार के कथित भ्रष्टासचार के मामले पर अरविंद केजरीवाल तक को घेरा है. हम भारत के लोग (we the nation) नामक इस वीडियो सोशल मीडिया पर छाने लगा है. इस वीडियो में अपनी बात शुरू कहते हुए भारतीय नागरिक की हैसियत से जनता से की गई अपील में कुमार विश्वा स ने वीडियो की शुरुआत में ही सवालिया लहजे में कहा कि पिछले दिनों से एक वीडियो उनको बेचैन कर रहा है कि जम्मूर-कश्मीजर में हो रहे उपचुनाव को संपन्नं कराने के लिए गए जवानों को वहां के शोहदे परेशान कर रहे हैं. वे जवान सशस्त्रर हैं लेकिन उनके पैरों में तथाकथित कानून की बेडि़यां जकड़ी हैं…इस पर तंज कसते हुए कुमार विश्वा स ने कहा कि ऐसा कैसे संभव है कि जिस पार्टी की सरकार केंद्र और राज्यत दोनों जगहों पर हैं, वहां पर भारत मां के किसी जवान के साथ ऐसी हरकत हो रही है…उन्हों ने श्रीनगर में महज छह फीसद मतदान पर भी सवाल करते हुए कहा कि इसके दो ही कारण दिखते हैं कि या तो लोगों को भय है या भरोसा नहीं है.
इसके साथ ही लोगों से भी सवालिया निशान करते हुए पूछा, ”क्याि हम इस देश में कुछ देर के लिए अपनी-अपनी पार्टी और अपने-अपने नेताओं की चापलूसी और घेरे से बाहर आकर सोच सकते हैं…क्या् हम यह सवाल कर सकते हैं कि राज्य और केंद्र में एक जैसी सरकार होने के बाद भी…सारी शक्ति होने के बाद भी एक लफंगा हिंदुस्तायन के बेटे पर हाथ कैसे उठा देता है…हम अपने-अपने रहनुमाओं पर फिदा हैं…मोदी-मोदी, अरविंद-अरविंद, राहुल-राहुल…हमें पता नहीं हैं कि मोदी, अरविंद, राहुल, योगी सिर्फ 5, 10 या अधिक से अधिक 25 साल के लिए हैं लेकिन देश का इतिहास 5000 साल पुराना है…हमारे बाद भी हजारों वर्ष तक बना रहेगा…”
इसके साथ ही उन्हों ने वीडियो में भ्रष्टादचार के मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल सरकार को घेरते हुए कहा, ”अगर आप भ्रष्टायचार से मुक्ति के नाम पर सरकार बनाएंगे और फिर भ्रष्टााचार में अपने ही लोगों के लिप्तष पाए जाने पर मौन रहेंगे तो लोग सवाल पूछेंगे ही…”
भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानन में फांसी की सजा के मसले पर कुमार विश्वाास ने कहा कि पाकिस्ताोन के भारत के एक बेटे को पकड़ लिया है और हम संसद और सड़क पर हंगामा कर रहे हैं. उन्हों ने सवाल करते हुए कहा, ”हम अमेरिका से उम्मीीद में हैं कि वह पाकिस्तागन को आतंकवादी देश घोषित कर दे लेकिन क्या भारत ने उसे आतंकी देश घोषित कर दिया…”
इस विडियो में कुमार विश्वास ने दुष्यंत कुमार से लेकर कई जाने माने शायरों की शायरी भी प्रस्तुत की है और आवाम से प्रश्न किया है कि क्या हमारे अन्दर देश भक्ति का जज्बा बाकी है कि नहीं? अगर बाकी है तो क्यों न हम सब मिलकर लालकिले के बाद लाल चौक पर तिरंगा लहराएँ जो पाकिस्तान को भी भली-भांति दिखलाई दे. कश्मीरियों को भी विश्वास में लें और उसे अपना साथी बनायें. वे सेना के जवानों के दर्द की बात भी उठाते हैं और राष्ट्रवादी सरकार से उम्मीद करते हैं कि यथोचित कार्रवाई होनी चाहिए. वे अंत में अपने आपको आम नागरिक के साथ साथ एक छोटे से (कवि) चंदबरदाई भी कहना चाहते हैं और पृथ्वीराजों और चन्द्रगुप्तों को ललकारते हुए कहते हैं कि अब भी जागो और देश के नागरिकों में विश्वास पैदा करो.
पूरा विडियो से मुझे जो समझ में आया वह कुछ इस प्रकार है – कुमार विश्वास बहुत दुखी हैं, मायूस हैं. हाल के आम आदमी पार्टी के प्रदर्शन पर वे आहत हैं. पंजाब में आंशिक सफलता, गोवा में भारी असफलता और अंत में राजौरी गार्डन की विफलता ने उन्हें झकझोर दिया है. केजरीवाल पर भी निशाना इसलिए साध रहे हैं कि केजरीवाल इधर निरंकुश होते जा रहे हैं शायद! कुमार विश्वास से भी सलाह मशविरा नहीं करते हैं जबकि वे आम आदमी पार्टी के संस्थापक और कार्यकारिणी समिति के सदस्य और संयोजक भी हैं. पार्टी के प्रदर्शन से वे नाखुश हैं और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ी गयी अन्ना आन्दोलन की लड़ाई को कुंद होते देख विचलित हैं. यह भी सही है कि वे वर्तमान केंद्र सरकार के प्रतिद्वंद्वी हैं इसलिए भी वर्तमान भाजपा सरकार की कार्यशैली से नाराज है और बीच-बीच में खींच-तान करते रहते हैं, पर उसके विकल्प में उभरने वाली ‘आम आदमी पार्टी’ के प्रदर्शन पर भी संतुष्ट नहीं हैं.
केजरीवाल सीधा और खरा बोलते हैं, पर अपनी बात को सही साबित नहीं कर पाते. प्रधान मंत्री और उनके मंत्रियों पर आरोप तो लगाते रहते हैं पर अदालतों में साबित नहीं कर पाते. दिल्ली में चाहे वे जो कर रहे हों, पर सारी जनता को एक साथ खुश रखना संभव नहीं है शायद, इसीलिए उनका जनधार खिसक रहा है. उनके कार्यकर्ता भी जनता से दूर होते जा रहे हैं शायद! केंद्र सरकार और दिल्ली के उप राज्यपाल केजरीवाल और आम आदमी पार्टी की जड़ खोदने में कोई कसर बाकी नहीं रखना चाहते. ऐसे में जहाँ टीम भावना से काम होना चाहिए था वहीं केजरीवाल अपने ही टीम के लोगों के एक-एक कर बाहर करते जा रहे हैं. आम आदमी पार्टी से बाहर जानेवाला व्यक्ति आम आदमी पार्टी का दुश्मन बन जाता है और भाजपा कांग्रेस आदि पार्टियाँ उनका इस्तेमाल भी भली-भाँति करना जानती है. कांग्रेस और भाजपा एक दूसरे की प्रतिद्वंद्वी है पर आम आदमी के खिलाफ दोनों एक हो जाती हैं. राजौरी गार्डन से भाजपा अपनी जीत से उतनी खुश नहीं थी जितनी कि आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार के जमानत जब्त होने से. कांग्रेस भी दूसरे नम्बर पर अपने को पाकर खुश हो रही थी और केजरीवाल की ही बुराई कर रही थी.
अब देखना यह है कि कुमार विश्वास के इस विडियो से केजरीवाल विश्वास के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हैं या अपनी टीम में सुधार का प्रयास करते हैं. विश्वास के खिलाफ कार्रवाई आत्मघाती कदम होगा केजरीवाल के लिए, पर विश्वास की बातों पर ध्यान देकर टीम में सुधार का हर संभव प्रयास करना ही हितकर होगा. दिल्ली में सरकार के सही काम-काज करने और पंजाब में सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाने में ही असली सफलता है. नकारात्मकता शायद लोगों को पसंद नहीं आती. अगर केजरीवाल ने सचमुच जनता के हित में काम किया है तो MCD में उन्हें सफलता मिलेगी अन्यथा जनता पर छोड़ दें. जनता क्या चाहती हैं, यह भी तो पता चले. EVM की शिकायत भी तभी उचित है जब कोई ठोस प्रमाण हो अन्यथा छीछालेदर करवाने से क्या फायदा ?
कुमार विश्वास को भी अपनी बात को अरविन्द और मनीष सिसोदिया से सीधा रखना चाहिए, क्योंकि वे उनके अच्छे मित्र भी हैं. कुमार विश्वास एक विद्वान कवि के साथ प्रखर वक्ता भी हैं. इनका साथ अरविन्द केजरीवाल को भूलकर भी नहीं छोड़नी चाहिए बल्कि इनकी बातों पर मनन करनी चाहिए. देश सबसे ऊपर है यह सभी जानते हैं. देश प्रेम का जज्बा अभी अधिकांश लोगों में कायम है. देश है तो हम हैं. इसलिए देश सर्वोपरि होना भी चाहिए पर देश का मतलब भौगोलिक भूभाग नहीं हो सकता … भूभाग के नागरिक मिलकर ही देश का निर्माण करते हैं. उम्मीद है हमारा देश जिसके कर्णधार मोदी जैसे नेता हैं अभी सही दिशा में जाने के प्रयास में है, यह कदम आगे बढ़ता रहना चाहिए. विपक्ष का काम है कि वह सही कदम में सकरात्मक सहयोग दे और गलत में विरोध करे. तभी होगी सच्चे लोकतंत्र की अवधारणा और सबका समुचित विकास! जय हिन्द! जय भारत!
- जवाहर लाल सिंह, जमशेदपुर

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Shobha के द्वारा
April 23, 2017

श्री जवाहर जी सबसे उत्तम है प्रश्न करना कमियां निकालना यह शुरू से ही आप और कुमार विशवास की नीति रही है वाद विवाद प्रतियोगिता में सबसे अधिक मेज बजाने वाले तालियाँ पिटवाते हैं कश्मीर दीनी सियासत धर्मान्धता के विरुध्द देश बहुत बड़ी कीमत चुका रहा है कश्मीर को पाकिस्तान आतंकवादियों का स्वर्ग बनाना चाहता है भारत कश्मीरियों को अपना बनाने की भी कीमत चुका रहा है जब तक कश्मीरी बर्बाद नहीं होंगे समझेंगे नहीं यह सब पहली बार नहीं हो रहा

    jlsingh के द्वारा
    April 23, 2017

    आदरणीया डॉ शोभा जी, सादर अभिवादन! कोई हल तो निकलना चाहिए न! आखिर कब तक हमारे नौजवान और निर्दोष लोग आतंकवादियों के हत्थे चढ़ाते रहेंगे? अब केंद्र में बहुमत की सरकार है कश्मीर में भी साझा सरकार है… सादर!

harirawat के द्वारा
April 22, 2017

बहुत तार्किक और समस्याओं को उजाकर करनेवाला लेख ! ये जवान जो भारतीय हैं किसी परदेश, कस्बा जिले या तहसील के हैं, हम में से ही किसी के पिता जी, भाई भतीजा या लाडला पुत्र है, सरकार अपने ढंग ज़े इसे टैकल करने की कोशिश कर रही है वहीं मीडिया और विपक्ष संसद में बैठकर चुटकड़ी ले रही है और पत्थर वाजों की हिमायत करते नजर आ रहे हैं ! क्या मीडिया या विपक्ष का काम सैनिकों द्वारा पत्थरों से अपनी रक्षा करने पर उंगली उठाना रह गया है ? कुमार विशवास को हतास हुए विपक्ष और मीडिया के कुकृत्य पर से भी पर्दा उठाना चाहिए ! साधुवाद बेटे जवाहरलाल !

    jlsingh के द्वारा
    April 22, 2017

    उत्साह वर्धन के के लिए हार्दिक आभार चाचा जी!

अभिषेक शुक्ल के द्वारा
April 19, 2017

हमेशा की तरह साधा हुआ आलेख सर…संतुलित, राजनीती पर स्वार्थ हावी न होने पाए तभी लोकतंत्र की लाज बच सकती है

    jlsingh के द्वारा
    April 20, 2017

    आभार आदरणीय अभिषेक शुक्ल जी! कुछ लोग तो हैं अभी भी बचे हुए जो शुचिता को अपनाये हुए हैं बाकी सब को तो देख ही रहे हैं. सादर

    jlsingh के द्वारा
    April 18, 2017

    थैंक्स मनोज कुमार जी!

yamunapathak के द्वारा
April 17, 2017

आदरणीय जवाहर जी सादर नमस्कार यह वीडियो देखा आपके इस ब्लॉग पर टिप्पणी कल दी थी पता नहीं क्यों पब्लिश नहीं हुई. साभार

    jlsingh के द्वारा
    April 18, 2017

    ब्लॉग पदहने और प्रतिक्रिया व्यक्त करने के लिए हार्दिक आभार आदरणीया यमुना जी!

harendra rawat के द्वारा
April 17, 2017

आम आदमी पार्टी के सारे छंटे लोग हैं, मतलब परस्त, सत्ता के भूखे, जिनको टुकड़ा मिल गया, मंत्री पद मिल गया वे केजरीवाल के गन मैंन बन गए, जिनको नहीं मिला, वे कुमार विश्वास की तरह अपना विडिओ वायरल करा रहे हैं ! हाँ कुमार विशवास की एक बात मुझे पसंद आई की काश्मीर में आतंकियों के इशारों पर सैनिकों के ऊपर पत्थरबाजी हो रही है और सैना के जवानों को जेके सरकार के सीएम सयम वर्तने की सलाह दे रहे हैं ! ओवरआल जवाहर भतीजे विस्तृत जानकारी शेयर करने के लिए, मेरी शुभ कामनाएं ! चाचा

    jlsingh के द्वारा
    April 18, 2017

    उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक आभार आदरणीय चाचा जी!


topic of the week



latest from jagran